Kanke, Ranchi, Jharkhand

( A State Government University )

Azadi Ka Amrit Mahotsav on 12.08.2022 at BAU, Ranchi

बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में चल रहे आजादी का अमृत महोत्सव पखवाड़ा के तहत आज विश्वविद्यालय के 10 महाविद्यालयों के चैंपियन छात्र छात्राओं ने गायन, एकल एवं समूह नृत्य, योग, क्विज, स्फूर्त भाषण (एक्सटेंपोर), वाद विवाद आदि प्रतियोगिताओं में एक से बढ़कर एक प्रदर्शन किया। निर्णायक समिति भी उनके हुनर और प्रदर्शन से बहुत प्रभावित रही और कहा कि थोड़ा सा और प्रशिक्षण एवं प्रोत्साहन देने पर वे राष्ट्रीय स्तर पर उभर सकते हैं।
 
विश्वविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिताओं का परिणाम इस प्रकार रहा:-
 
क्विज: प्रथम प्रेरणा प्रिया एवं खुशी रानी, रवीन्द्र नाथ टैगोर कृषि महाविद्यालय, देवघर, द्वितीय मोहम्मद सादिक अंसारी एवं सौम्य दत्ता, मात्स्यिकी विज्ञान महाविद्यालय, गुमला, तृतीय अमर अहमद एवं प्रद्युम्न महतो, कृषि महाविद्यालय, गढ़वा।
 
‘मौलिक दायित्व, मौलिक अधिकार से ज्यादा महत्वपूर्ण है’ विषय पर वाद विवाद प्रतियोगिता। प्रथम विशालाक्षी चौबे, बागवानी महाविद्यालय, खूंटपानी (चाईबासा), द्वितीय श्वेता कुमारी, रांची कृषि महाविद्यालय, तृतीय आकृति तिवारी, कृषि महाविद्यालय गोड्डा ।
 
स्फूर्त भाषण (एक्सटेंपोर): प्रथम श्वेता कुमारी, रांची कृषि महाविद्यालय, द्वितीय अनल बोस, रांची पशुचिकित्सा महाविद्यालय, तृतीय अमित कुमार, वानिकी महाविद्यालय। इन साहित्यिक प्रतियोगिताओं की आयोजन समिति के अध्यक्ष डीएसडब्ल्यू डॉ डीके शाही थे।
 
गीत-नृत्य सम्बन्धी स्पर्धाओं में सर्वोत्तम प्रतिभागियों का चयन रांची के प्रसिद्ध कलाकार मनपूरन नायक एवं देवदास विश्वकर्मा ने किया। परिणाम इस प्रकार रहे –
गायन (छात्र वर्ग): प्रथम अनल बोस, आरवीसी, द्वितीय नवीन कुमार कुशवाहा, आरएसी, तृतीय रॉबिंसन तिग्गा, बागवानी महाविद्यालय, खूंटपानी, चाईबासा।
गायन (छात्रा वर्ग): प्रथम अर्पिता सिन्हा महापात्रा, आरवीसी, द्वितीय अनिपा लकड़ा आरएसी, तृतीय नंदिता पॉल, बागवानी महाविद्यालय।
 
समूह लोक नृत्य: प्रथम मोनिका एंड ग्रुप, वानिकी महाविद्यालय, द्वितीय बसंती हांसदा एण्ड ग्रुप, आरवीसी, तृतीय संतोष कुजूर एंड ग्रुप, आरएसी।
 
एकल नृत्य (छात्रा वर्ग): प्रथम अन्वेषा निधि, कृषि अभियंत्रण महाविद्यालय, द्वितीय अनिपा लकड़ा, आरएसी, तृतीय साक्षी सिंह, आरवीसी। गीत नृत्य संबंधी आयोजन समिति के अध्यक्ष पशुचिकित्सा संकाय के अधिष्ठाता डॉ सुशील प्रसाद थे।