Kanke, Ranchi, Jharkhand

( A State Government University )

राष्ट्रीय क्विज प्रतियोगिता में बीएयू के तीन छात्रों को मिली सफलता

राष्‍ट्रीय क्विज प्रतियोगितार में बिरसा कृषि विश्‍वविद्यालय के तीन छात्रों ने सफलता हासिल की है। आईएफटीएम यूनिवर्सिटी, मोराबाद के स्कूल ऑफ एग्रीकल्चरल साइंसेज एंड इंजीनियरिंग ने 22 अप्रैल को राष्ट्रीय स्तर पर ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता कराई थी। अर्थ डे पर आयोजित इस प्रतियोगिता में पूरे देश के कृषि विश्वविद्यालयों के करीब 25 छात्रों ने भाग लिया।

आईएफटीएम यूनिवर्सिटी के द्वारा गुरुवार देर शाम इस प्रतियोगिता के पांच विजेताओं को ऑनलाइन सर्टिफिकेट भेजा गया। सभी 25 प्रतिभागी छात्र बीएयू के कॉलेज ऑफ़ हॉर्टिकल्चर से सम्बद्ध है। इनमें कॉलेज के फर्स्ट सेमेस्टर के एक छात्र तथा दो छात्राओं को सफलता मिली है। उन्होंने गत मार्च माह में कॉलेज के अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम के सत्र 2020-21 में नामांकन कराया है। फ़िलहाल सभी छात्र ऑनलाइन माध्यमों से कॉलेज के शैक्षणिक गतिविधियों से जुड़े हुए है।

प्रतियोगिता में छात्रों से 30 मिनट में अर्थ विषय से सबंधित 50 प्रश्नों का जवाब देना था। इस ऑनलाइन क्विज के प्राप्तांक के आधार पर आईएफटीएम यूनिवर्सिटी ने सफल विजेताओं को ई सर्टिफिकेट भेजा है। इसके मुताबिक कॉलेज के छात्रों में हजारीबाग के दीपक राज को द्वितीय, रांची की आर्या कुमारी को तृतीय और धनबाद की प्रेरणा भारती को पांचवां स्थान मिला है। आईएफटीएम यूनिवर्सिटी ने सभी पांच सफल प्रतिभागियों को सरप्राइज गिफ्ट भी भेजने की बात कही है।

आर्या कुमारी, प्रेरणा भारती, दीपक राज

कुलपति डॉ ओएन सिंह ने छात्रों की इस सफलता को तीन वर्ष से चल रहे कॉलेज ऑफ हॉर्टिकल्चर के लिए गौरव का क्षण बताया है। कोरोनाकाल में छात्रों ने ऑनलाइन माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर सफलता से कॉलेज के लिए एक मिसाल कायम की है।

छात्रों की इस बड़ी सफलता पर कुलपति डॉ ओएन सिंह, डीन एग्रीकल्चर डॉ एमएस यादव, डॉ पीके सिंह, डॉ विनय कुमार, डॉ संयत मिश्रा एवं डॉ अवधेश कुमार सहित कॉलेज के टीचर्स से शुभकामना के साथ बधाई दी है।

आर्या कुमारी सपरिवार कोरोना संक्रमित

बताते चले कि ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता शुरू होने से पहले ही धुर्वा के सेक्टर टू निवासी आर्या कुमारी पूरे परिवार के साथ कोरोना संक्रमित है। कोरोना से संक्रमित होते हुए आर्या ने निडरता एवं ऊंचे मनोबल के साथ इस प्रतियोगिता में भाग लिया। इसमें भाग लेने के लिए पूरे परिवार ने प्रोत्साहित किया। इस सफलता में इनके पिता राकेश कुमार के मार्गदर्शन का बड़ा हाथ रहा है। इनके पिता टी बोर्ड ऑफ इंडिया, कोलकाता में सहायक निदेशक है। संक्रमित होने की वजह से अभी परिवार के साथ ही रह रहे है। उन्होंने आरएयू, पूसा से पीजी इन एग्रीकल्चर की है। परिवार में आर्या के पिता, माता, दादी और छोटा भाई कोरोना से संक्रमित है। इनके स्थिति में अभी सुधार है।