Kanke, Ranchi, Jharkhand

( A State Government University )

बिरसा कृषि विश्वविद्यालयः मत्स्यपालन, पर्यावरण एवं जैव विविधता पर हुई चर्चा

टिकाऊ कृषि एवं संबद्ध विज्ञान के लिए वैश्विक शोध पहल विषय पर मेरठ के आस्था फाउंडेशन द्वारा बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के ऑफलाइन मोड का समापन हो गया. कृषि, पशु चिकित्सा, वानिकी, मत्स्यपालन, पर्यावरण एवं जैव विविधता आदि विषयों पर 11 सत्र आयोजित किए गए.

सम्मेलन में ओरल और पोस्टर प्रेजेंटेशन के माध्यम से जीरो टिलेज कृषि, प्रक्षेत्र यंत्रीकरण, मात्स्यिकी, गृह विज्ञान, उत्पादों का सेल्फ लाइफ संवर्धन, पशु विज्ञान के क्षेत्र में नवीनतम प्रवृत्तियों पर चर्चा हुई. मुख्य आयोजन सचिव डॉ रबीन्द्र कुमार ने बताया कि सम्मेलन में पशुओं की देशी नस्लों के सुधार एवं संवर्धन, रोगों की नवीनतम जांच तकनीकों के प्रयोग और अफ्रीकन स्वाइन फीवर एवं लंपी स्किन रोग के नियंत्रण के लिए वैक्सीन विकसित करने पर जोर दिया. बकरी के पीपीआर रोग, स्वाइन फीवर और पशुधन के फूट एंड माउथ डिजीज की रोकथाम के लिए मास वैक्सीनेशन की जरूरत बतायी गयी.