Kanke, Ranchi, Jharkhand

( A State Government University )

कृषि इनपुट डीलर्स प्रशिक्षण कार्यक्रम : 5 सर्वोत्तम किसान निदेशकों को किया गया सम्मानित

कृषि इनपुट डीलर्स प्रशिक्षण कार्यक्रम : 5 सर्वोत्तम किसान निदेशकों को किया गया सम्मानित

बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में नाबार्ड के सहयोग से कृषि इनपुट डीलर्स प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. यह प्रशिक्षण 15 दिनों तक चला. जिसका सोमवार को समापन हुआ. समारोह के मुख्य अतिथि नाबार्ड के महाप्रबंधक जय निगम थे. अध्यक्षता कृषि संकाय अधिष्ठाता डॉ एस के पाल ने की. विशिष्ट अतिथि के रूप में नाबार्ड की पदाधिकारी पूजा भारती तथा पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व प्रबंधक एमके श्रीवास्तव उपस्थित थे.

नाबार्ड के 45 किसान निदेशकों ने प्रशिक्षण में लिया हिस्सा

प्रशिक्षण कार्यक्रम में नाबार्ड के 45 किसान निदेशकों तथा स्मॉल फार्मर्स एग्रीबिजनेस कंसोर्सियम (एसएफएसी) के 5 किसान निदेशकों ने भाग लिया. प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान बीज की पहचान, झारखंड की मिट्टी, खाद एवं उर्वरक, जीवाणु खाद, नैनो उर्वरक, बायोस्टिम्युलेंट, कीटनाशी, फफूंदनाशी, हाईटेक हॉर्टिकल्चर, फर्टिगेशन, सूक्ष्म सिंचाई, फर्टिलाइजर कंट्रोल ऑर्डर, कीटनाशी अधिनियम, लाइसेंसिंग की प्रक्रिया, कृषि साख तथा लेखा से संबंधित कुल 45 से अधिक व्याख्यान तथा व्यवहारिक अनुभव शेयरिंग एवं प्रक्षेत्र भ्रमण की जानकारी दी गई.

5 सर्वोत्तम किसान निदेशकों को किया गया सम्मानित

कार्यक्रम में 5 सर्वोत्तम किसान निदेशकों को सम्मानित किया गया. जिसमें फोटो देवी इटखोरी, चतरा रामफल रावत, देवघर, अखिलेश कुमार, कोडरमा, सुरेंद्र कुमार मेहता, कोडरमा तथा नीलम बारजो, सिमडेगा शामिल हैं. प्रशिक्षण कार्यक्रम के समन्वयक डॉ बीके झा ने धन्यवाद ज्ञापन देकर किया. इस 15 दिवसीय कार्यक्रम में उप समन्वयक के रूप में मृदा विज्ञान के डॉ प्रभाकर महापात्रा, पौधा रोग विभाग के डॉ हेमचंद्र लाल एवं कीट विज्ञान विभाग के डॉ विनय कुमार ने महत्वपूर्ण भूमिका रही.